Jai Jinendra 2 U

Jain Wallpapers, Jain Bhajan, Jain Chalisa, Jain Aarti And More...




Category: Jain Guru Suvichar – Anmol Vachan

Muni Shree Tarun Sagar Suvichar On SPEAKING LIE – Anmol Vachan In Hindi

Munishri Tarun Sagarji Ke Kadwe Prachan Hindi Mein Anmol Vachan Jain Suvichar

 

Muni Shree Tarun Sagar Suvichar On SPEAKING LIE – Anmol Vachan In Hindi – Kadwe Pravachan :

 

डाक्टर और गुरु के सामने झूठ मत बोलिये क्योंकिं यह झूठ बहुत महंगा पड सकता है । गुरु के सामने झूठ बोलने से पाप का प्रायश्चित नही होगा, डाक्टर के सामने झूठ बोलने से रोग का निदान नहीं होगा । डाक्टर और गुरु के सामने एकदम सरल और तरल बनकर पेश हो । आप कितने ही होशियार क्यों न हो तो भी डाक्टर और गुरु के सामने अपनी होशियारी मत दिखाइये, क्योंकिं यहां होशियारी बिल्कुल काम नहीं आती ।

Muni Shree Tarun Sagar Suvichar On Profit – Anmol Vachan In Hindi

Anmol Vachan hindi Suvichar Quotes By Muni Shree Tarun Sagar Maharaj

 

Muni Shree Tarun Sagar Suvichar On Profit – Anmol Vachan In Hindi – Kadwe Pravachan :

 

धनाढ्य होने के बाद भी यदि लालच और पैसों का मोह है, तो उससे बड़ा गरीब और कोई नहीं हो सकता है। प्रत्येक व्यक्ति ‘लाभ’ की कामना करता है, लेकिन उसका विपरीत शब्द अर्थात ‘भला’ करने से दूर भागता है।

Muni Shree Tarun Sagar Suvichar On Wealth – Anmol Vachan In Hindi

Anmol Suvichar Vachan Kadwe Pravachan - Muni Shree Tarun Sagar Ji

 

Muni Shree Tarun Sagar Suvichar On Wealth – Anmol Vachan In Hindi – Kadwe Pravachan :

 

धन का अहंकार रखने वाले हमेशा इस बात का ध्यान रखें कि पैसा कुछ भी हो सकता है, बहुत कुछ हो सकता है, लेकिन सब कुछ नहीं हो सकता। हर आदमी को धन की अहमियत समझना बहुत जरूरी है।

Jai Jinendra 2 U © 2016