Jai Jinendra 2 U

Jain Wallpapers, Jain Bhajan, Jain Chalisa, Jain Aarti And More...




Category: Jain Bhajans

तुझे पिता कहुं या माता तुझे मित्र कहुं या भ्राता

तुझे पिता कहुं या माता,

तुझे मित्र कहुं या भ्राता,

सौ-2 बार नमन करता हूं

चरणों में झुका के माथातुझे पिता कहुं

हे परमेश्वर तेरी जग में,

है महिमा बहुत निराली,

तु चाहे तो बज जाये,

हर एक हाथ से ताली

हे प्रभु तेरी कुदरत का,

ये खेल समझ नही आतातुझे पिता कहुं

सती मैना ने तुझे पुकारा,

तुने पति का कोढ़ मिटाया,

मुनि मांनतुंग ने ध्याया,

सौ तालों को तोड़ गिराया,

कण-2 में तु बसा है,

पर कही नज़र नही आतातुझे पिता कहुं

है धरा पाप से बोझल,

तब हमने तुझे पुकारा,

अब धीरज ड़ोल रहा है,

तु दे दे हमे सहारा,

बिन तेरे इस दुनिया में,

हमे कोर्इ नज़र नही आतातुझे पिता कहुं

स्वागतम गुरूवर शरणागतम गुरूवर

स्वागतम गुरूवरशरणागतम गुरूवर,

सुस्वागतम गुरूवरशरणागतम गुरूवर,

तुने भक्तों से वादा किया था, कि बुलाओगें जब चला आउंगा,

जब बढ़ने लगेगा अंधेरा, ज्ञान का दीप आके जलाउंगा,

स्वागतम गुरूवरशरणागतम गुरूवर,

सुस्वागतम गुरूवर, शरणागतम गुरूवर,

तेरी उम्मीद, तेरा सहारा, हमने रो-2 के तुझको पुकारा,

हम तो तेरे है, तेरे रहेंगे, तु बता कब बनेगा हमारा,

स्वागतम गुरूवरशरणागतम गुरूवर,

सुस्वागतम गुरूवरशरणागतम गुरूवर,

तेरी राहों में पलकें बिछार्इ, तेरी आमद को गलियां सज़ार्इ,

ना कर देर अब आजा प्यारे, वरना होगी बड़ी ज़ग हसार्इ,

स्वागतम गुरूवरशरणागतम गुरूवर,

सुस्वागतम गुरूवरशरणागतम गुरूवर,

तेरी दुनिया का दस्तुर है क्या, जिसे चाहो वो मिलता नही है,

पर ये भी हकीकत है तुझ बिन, एक पत्ता भी हिलता नही है

स्वागतम गुरूवरशरणागतम गुरूवर,

सुस्वागतम गुरूवरशरणागतम गुरूवर,

तेरे दर पर मेरा सर झुका है, इसे दुनिया में झुकने ना देना,

हम रहे ना रहे इस जहां में, नाम भक्तो का मिटने ना देना,

स्वागतम गुरूवरशरणागतम गुरूवर,

सुस्वागतम गुरूवरशरणागतम गुरूवर,

हमसे कोर्इ खता गर हुर्इ है, फिर भी तुझ से महोब्बत करेंगे,

हमे मोक्ष की परवाह नही है, हम तो तेरी ही पुजा करेंगे,

स्वागतम गुरूवरशरणागतम गुरूवर,

सुस्वागतम गुरूवरशरणागतम गुरूवर

जय महावीरा बोल जरा बोल है ये अनमोल जरा

जय महावीरा बोल जरा,

बोल है ये अनमोल जरा,

करदे पली पार तुझे,

तु लंगर तो खोल जरा,

सदियों से जो भटक रहे थे,

उनका बेडा पार हुआ,

उलट फेर मे अटक रहे थे,

उनका भी उद्धार हुआ,

आना जाना लगा रहेगा,

मन की आंखे खोल जरा,

जय महावीरा बोल जरा,

बोल है ये अनमोल जरा,

मतलब के है रिश्ते नाते,

कोर्इ किसी का यार नही,

झुठी कसमें, झुठे वादे,

ये सच्चा संसार नही,

प्यार यहां पर बना तिज़ारत,

खोल ना इसकी पोल जरा

जय महावीरा बोल जरा,

बोल है ये अनमोल जरा,

क्या जीना, क्या मरना यारों,

ये दुनिया एक सपना है,

कदमकदम पे धोखा देगी,

यहां नही कोर्इ अपना है,

ऐसी दुनिया तुझे मुबारक,

हमसे कुछ ना बोल जरा,

जय महावीरा बोल जरा,

बोल है ये अनमोल जरा

मैं तेरी महर की नज़र चाहता हुं

मैं तेरी महर की नज़र चाहता हुं,

दुआओं में अपनी असर चाहता हुं,

मैं तेरी महर की नज़र चाहता हुं,

दुआओं में अपनी असर चाहता हुं, मैं तेरी महर

तमन्ना मचलके ये गाने लगी है,

तेरी याद भगवन सताने लगी है,

तुझे हालेदिल की ख़बर चाहता हुं,

दुआओं में अपनी असर चाहता हुं, मैं तेरी महर

तरसते है नैना ओ महावीर आओं,

तुम्हारे है हम युं ना हमको सताओं,

इबादत तेरी हर पहर चाहता हुं,

दुआओं में अपनी असर चाहता हुं, मैं तेरी महर

मेरे दिल की सुनी महफिल सजादे,

तुझे कैसे पाउ ये तुही बतादे

जो तुझसे मिला दे, सफर चाहता हूं

दुआओं में अपनी असर चाहता हुं, मैं तेरी महर

तुझसे मिलन की प्यास जगी है,

आओगे इक दिन ये आस लगी है,

सबेगम की अब मैं सहर चाहता हूं

दुआओं में अपनी असर चाहता हुं, मैं तेरी महर

तेरी याद में ओ भगवन हम तो हुए दिवाने

तेरी याद में ओ भगवन,

हम तो हुए दिवाने,

तुझको खबर नही कुछ,

दुनिया लगी सताने, तेरी याद

दिल दर्द से भरा है,

कोर्इ ना आसरा है,

आये है तेरे दर पे,

हम हाले दिल सुनाने, तेरी याद

टुटा हरेक सपना,

कोर्इ नही है अपना,

अब तुम ही आओं भगवन,

हमको गले लगाने, तेरी याद

करदे मुराद पुरी,

मिट जायेगी ये दूरी,

पल भर को आजा भगवन,

मुखड़ा हमे दिखाने, तेरी याद

हमको है आस तेरी,

अब कर ना वीरा देरी,

महावीर जल्दी आओं,

इस आस को बंधाने, तेरी याद

अब सांस थम रही है,

और सांझ ढल रही है,

आना पडे़गा तुझको,

बुझती षंमा जलाने, तेरी याद

Page 2 of 712345...Last »
Jai Jinendra 2 U © 2016