Jai Jinendra 2 U

Jain Wallpapers, Jain Bhajan, Jain Chalisa, Jain Aarti And More...




बरसा पारस सुख बरसा आंगन-2 सुख बरसा


बरसा पारस, सुख बरसा,

आंगन-2 सुख बरसा

चुन-2 कांटे नफरत के,

प्यार अमन के फूल खिलाबरसा पारस..

द्वेषभाव को मिटा,

इस सकल संसार से,

तेरा नित सुमिरन करें,

मिलजुल सारे प्यार से,

मानव से मानव हो ना जुदाआंगन-2

झोलियां सभी की तु,

रहमोंकरम से भर भी दे,

पीरपर्वत हो गर्इ,

अब तो कृपा कर भी दे,

मांगे तुझसे ये ही दुआआंगन-2

कोर्इ मन से है दुखी,

कोर्इ तन से है दुखी,

हे प्रभु ऐसा करो,

कुल जहान हो सुखी,

सुखमय जीवन सबका सदाबरसा पारस..

Comments

comments




Related Posts

Updated: February 6, 2016 — 8:48 pm
Jai Jinendra 2 U © 2016